प्रदूषण पर योगी सरकार का तर्क: पाकिस्तान से आ रही प्रदूषित हवा, CJI बोले- तो क्या आप वहां के उद्योग बंद कराना चाहते हैं!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


वायु प्रदूषण के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद केंद्र सरकार ने प्रवर्तन कार्य बल (enforcement task force) का गठन किया है। वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने शीर्ष अदालत में एक हलफनामा दायर कर कहा है कि उन्होंने वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए उसके निर्देशों के अनुपालन की निगरानी के लिए एक प्रवर्तन कार्य बल का गठन किया है। वही, यूपी सरकार ने कोर्ट में दलील दी की हवा के दबाव पर नजर डालें तो यूपी नीचे है। यहां हवा ज्यादातर पाकिस्तान से आ रही है।

मीडिया के कुछ वर्ग SC को खलनायक दिखा रहे: सुप्रीम कोर्ट

बता दें कि गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने वायु प्रदूषण को लेकर केंद्र और दिल्ली सरकार पर नाराजगी जताते हुए 24 घंटे के भीतर योजना बताने को कहा था। अब केंद्र ने 17 सदस्यीय टास्क फोर्स का गठन किया गया है। यह टास्क फोर्स हर शाम छह बजे रिपोर्ट लेगी। केंद्र सरकार की इस पहल पर सुप्रीम कोर्ट ने संतोष जताया है। वहीं, आज वायु प्रदूषण पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमने देखा है कि मीडिया के कुछ वर्ग यह दिखाने की कोशिश करते हैं कि हम खलनायक हैं। हम स्कूलों को बंद करना चाहते हैं।

जबकि खुद दिल्ली सरकार ने कहा कि हम स्कूल बंद कर रहे हैं और वर्क फ्रॉम होम शुरू कर रहे हैं, लेकिन आज का अखबार देखिए। यह दिखाया गया है कि गुरुवार की अदालत की सुनवाई एक आक्रामक लड़ाई थी और मानो अदालत प्रशासनिक कर्तव्य संभालने की धमकी दे रही थी। कोर्ट ने कहा कि यह पता नहीं कि इसे जानबूझकर दिखाया जा रहा है या किसी और मकसद से बताया गया है।

प्रदूषित हवा पाकिस्तान से आ रही: यूपी सरकार

उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उद्योग बंद होने से राज्य में गन्ना और दूध उद्योग प्रभावित होंगे और राज्य पिछड़ जाएगा। आगे राज्य सरकार ने कहा कि हवा के दबाव पर नजर डालें तो यूपी नीचे है। प्रदूषित हवा ज्यादातर पाकिस्तान से आ रही है। इस पर सीजेआई एनवी रमन ने चुटकी लेते हुए कहा कि आप पाकिस्तान में उद्योगों पर प्रतिबंध लगाना चाहते हैं।

दिल्ली सरकार को अस्पतालों के निर्माण कार्यों की अनुमति..

वहीं, कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को लेकर दिल्ली सरकार द्वारा दायर हलफनामे में शीर्ष अदालत से अस्पतालों के निर्माण कार्यों की अनुमति देने का आग्रह किया गया था। सुप्रीम कोर्ट ने इसे स्वीकार कर लिया है और दिल्ली सरकार को अस्पतालों में निर्माण कार्य शुरू करने की अनुमति दे दी है। अब सुप्रीम कोर्ट की अगली सुनवाई 10 दिसंबर को होगी।

आज दिल्ली- एनसीआर में हवा का हाल..

आपको बता दे कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार सुबह हवा की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई, जहां न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 12.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक, शुक्रवार सुबह नौ बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 358 रहा। पड़ोसी एनसीआर के शहरों फरीदाबाद में AQI  289 और ग्रेटर नोएडा AQI  250  के साथ हवा की गुणवत्ता सुबह ‘खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई।

 


Related